Advertisement
Wednesday, December 7, 2022
होमइनसाइटफंडिंग अलर्ट इन्वेस्टिंग स्टार्टअप Sateeq ने फाउन्डर्स और निवेशकों के समूह से धन...

[फंडिंग अलर्ट] इन्वेस्टिंग स्टार्टअप Sateeq ने फाउन्डर्स और निवेशकों के समूह से धन जुटाया

इन्वेस्टिंग स्टार्टअप Sateeq
इन्वेस्टिंग स्टार्टअप Sateeq

Sateeq, एक निवेश प्लेटफॉर्म ने Himanshu Periwal (founder of Unlu), Sarthak Goel (founder, Y-Combinator backed InVoid), Vaibhav Jalan (Smallcase), Nikunj Jain, Amitesh Sinha (partner SIMA Funds), Kunwar and Amit (founder of UnFinance) सहित फाउन्डर्स और निवेशकों के एक समूह से फंडिंग राउंड में एक अज्ञात राशि जुटाई है।

गुड़गांव स्थित Sateeq की स्थापना 2021 में 16 वर्षीय Krishna Maggo ने की थी, यह भारत का पहला ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जहां उपयोगकर्ता केवल 5000 रुपये के साथ स्टार्टअप में निवेश करना शुरू कर सकते हैं। 

Krishna ने कहा कि इसका उद्देश्य एंजेल निवेश को सुलभ बनाना है ताकि अधिक से अधिक लोग स्टार्टअप में निवेश कर सकें।

Krishna Maggo ने कहा कि “फंड जुटाना उतना आसान नहीं है जितना कि लगता है। कई फाउन्डर एंजेल निवेशकों तक पहुंचने में असमर्थ हैं, जो पारंपरिक एंजेल नेटवर्क के माध्यम से निवेश करते हैं और वे भारत में कुल निवेशक आधार का मात्र 0.01% हिस्सा बनाते हैं। बाकी 99.99% को बढ़ते स्टार्टअप इकोसिस्टम में निवेश करने और इसकी सफलता से रिटर्न कमाने का कोई मौका नहीं मिलता है। इसकी बड़ी दृष्टि एक “सुपर ऐप” का निर्माण करना है जहां खुदरा निवेशक निजी निवेश जैसे स्टार्टअप इक्विटी, रियल एस्टेट, परिसंपत्ति-समर्थित टोकन और अन्य परिसंपत्ति वर्गों में भाग ले सकते हैं।”

उन्होंने कहा कि “अमेरिका में हमारा शीर्ष प्रतिस्पर्धी रिपब्लिक डॉट कॉम है, जिसकी कीमत करीब 1 अरब डॉलर है और इसने 600 से ज्यादा स्टार्टअप्स को 10 लाख से ज्यादा यूजर्स से 70 करोड़ डॉलर जुटाने में मदद की है।”

कंपनी ने कहा कि स्टार्टअप अनिवार्य रूप से परिवर्तनीय डिबेंचर के आधार पर सामुदायिक फंडिंग जुटा सकते हैं, जिसका इस्तेमाल भारत में सैकड़ों स्टार्टअप ने फंड जुटाने के लिए किया है। इसके अलावा यह अपने निजी सौदों का संचालन करने और निवेशकों के एक विशिष्ट समूह से फंड जुटाने के लिए एंजेल सिंडिकेट, स्टार्टअप और एंजेल नेटवर्क को बुनियादी ढांचा सहायता भी प्रदान करता है।

अपने बीटा लॉन्च के कुछ ही दिनों बाद Sateeq ने अपने नेटवर्क में 5,000 से अधिक निवेशकों को जोड़ा है और एक दर्जन से अधिक स्टार्टअप ने प्लेटफॉर्म के साथ पंजीकरण किया है।

इन पंजीकृत स्टार्टअप्स को पहले से ही मुंबई एंजल्स, आइवी कैपिटल, श्रद्धा शर्मा, वैभव वर्धन, किरण मणि, देशपांडे स्टार्टअप्स और शार्क टैंक इंडिया जैसे निवेशकों का समर्थन प्राप्त है। प्लेटफॉर्म इस साल की तीसरी तिमाही में प्री-सीड राउंड बढ़ाने पर विचार कर रहा है।

Sateeq के बारे में

कुछ ही मिनटों में उपयोगकर्ता उन कंपनियों में निवेश करना शुरू कर सकते हैं जो दुनिया बदल रही हैं। उन्हें एक मान्यता प्राप्त निवेशक होने की आवश्यकता नहीं है और वे कम से कम 5,000 के साथ निवेश शुरू कर सकते हैं। बस Sateeq के साथ साइन अप करें।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

सूचना-पत्र

हमारे साप्ताहिक सूचना-पत्र की सदस्यता लें और नवीनतम अपडेट्स को देखना ना भूलें।