Advertisement
Saturday, January 28, 2023
होमइनसाइटएक्सपर्ट कॉर्नरस्टैंड-अप इंडिया योजना महिला उद्यमियों के लिए कैसे मददगार

स्टैंड-अप इंडिया योजना महिला उद्यमियों के लिए कैसे मददगार

स्टैंड अप इंडिया योजना महिला अनुसूचित जनजाति एवं महिला कारोबारियों को 10 लाख से एक करोड़ तक अनुदान राशि बैंकों के माध्यम से दी जाएगी केवल उद्यमी महिलाओं को।स्टैंड-अप इंडिया योजना एक ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने के लिए कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या

स्टैंड अप इंडिया योजना महिला अनुसूचित जनजाति एवं महिला कारोबारियों को 10 लाख से एक करोड़ तक अनुदान राशि बैंकों के माध्यम से दी जाएगी केवल उद्यमी महिलाओं को।स्टैंड-अप इंडिया योजना एक ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने के लिए कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) उधारकर्ता और प्रति बैंक शाखा में कम से कम एक महिला उधारकर्ता को 10 लाख और 1 करोड़ के बीच बैंक ऋण की सुविधा देती है।

यह उद्यम विनिर्माण, सेवाओं, कृषि-संबद्ध गतिविधियों या व्यापार क्षेत्र में हो सकता है। गैर-व्यक्तिगत उद्यमों के मामले में कम से कम 51% शेयरधारिता और नियंत्रण हिस्सेदारी या तो अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।

यह भी पढ़े – यूनिकॉर्न स्टार्टअप 2023 क्या है उसकी पूरी जानकारी

  1. स्टैंड अप इंडिया योजना क्या है
  2. स्टैंडर्ड योजना में किन-किन को सहयोग राशि दी जाती है
  3. स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज
  4. स्टैंड अप इंडिया लोन योजना योग्यता
  5. स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लाभ

स्टैंड अप इंडिया योजना क्या है।

स्टैंड अप इंडिया योजना महिला अनुसूचित जनजाति एवं महिला कारोबारियों को 10 लाख से एक करोड़ तक अनुदान राशि बैंकों के माध्यम से दी जाएगी केवल उद्यमी महिलाओं को। स्टैंड-अप इंडिया योजना एक ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने के लिए कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) उधारकर्ता और प्रति बैंक शाखा में कम से कम एक महिला उधारकर्ता को 10 लाख और 1 करोड़ के बीच बैंक ऋण की सुविधा देती है। यह उद्यम विनिर्माण, सेवाओं, कृषि-संबद्ध गतिविधियों या व्यापार क्षेत्र में हो सकता है। गैर-व्यक्तिगत उद्यमों के मामले में कम से कम 51% शेयरधारिता और नियंत्रण हिस्सेदारी या तो अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।

यह भी पढ़े – कॉलेज में ख़ुद का स्टार्टअप कैसे शुरू करें

स्टैंडअप योजना में किन-किन को सहयोग राशि दी जाती है

स्टैंड अप योजना में अधिकतर महिलाओं को जो अनुसूचित एवं जनजाति आती है उन्हें स्टैंडर्ड योजना के माध्यम से अनुदान राशि दी जाती है यहां अनुदान राशि 10 लाख से एक करोड़ तक की होती है। इस अनुदान राशि की मदद से जो उद्यमी गरीब महिलाएं होती है उनके स्तर को ऊंचा उठाने के लिए इस प्रकार की योजनाओं का प्रयोग किया जाता है इस कारण इस अनुदान राशि से भारत की महिलाओं की आर्थिक दशा में काफी सुधार होगा और वुमन एंटरप्रेन्योर को भी बढ़ावा मिलेगा जिससे भारत में महिलाओं को सुविधा प्राप्त हो सके। स्टैंड अप योजना की शुरुआत से भारत में महिलाओं की आर्थिक स्थिति काफी हद तक सुधर गई है। जिससे देश में महिलाओं को पुरुषों के समान एंटरप्रेन्योर बनने का अच्छा मौका मिल रहा है वह अपनी काबिलियत के द्वारा ग्रहणी ना बनकर अच्छी उधमी भी बनती जा रही है। जो देश के लिए कुछ हद तक अच्छा होता है।

यह भी पढ़े – 2023 के टॉप 20 स्टार्टअप बिजनेस आइडिया

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए मुख्य आवश्यक दस्तावेज है जो निम्न है
1.पैन कार्ड
2.बिजनेस प्रमाण पत्र
3.पहचान पत्र (आधार कार्ड,वोटर आईडी कार्ड,निवास प्रमाण पत्र)
4.पासपोर्ट साइज फोटो
5.बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
6.रेंट एग्रीमेंट
7.आयकर रिटर्न
8.प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीयरेंस प्रमाण पत्र
9.प्रोजेक्ट रिपोर्ट

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना योग्यता

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए योग्यता अनुसार ही उन्हें लोन दिया जाता है।
1. अनुसूचित जाति एवं जनजाति की महिलाएं एवं उद्यमी महिलाएं जो अपने कारोबार को आगे बढ़ाना चाहती हो। वे महिलाएं ही स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए पात्र होगी।
2. जो महिलाएं स्टैंड अप इंडिया योजना से लोन लेना चाहती है वह महिलाएं पहले किसी भी बैंक से डिफाल्टर नहीं होनी चाहिए अन्यथा वह इस योजना के काबिल नहीं होगी।
3. इस योजना के तहत महिलाओं को ग्रीन फील्ड या स्वयं की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट होने पर ही उन महिलाओं को स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के माध्यम से लोन दिया जाएगा।
4. इससे स्टैंड अप योजना लोन के माध्यम से उन महिलाओं को ही लोन दिया जाएगा जो 18 वर्ष से अधिक आयु की हो एवं एससी एसटी में शामिल हो।
5. इससे स्टैंड अप योजना के माध्यम से 51% तक शेयरिंग होल्डर इसी उद्यमी महिलाओं के नाम पर होनी चाहिए ताकि उनको गारंटर बना सकें।

यह भी पढ़े – अपना खुद का स्टार्टअप (Startup) कैसे शुरु करे 2023

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लाभ

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए आप सर्वप्रथम आप स्टैंडअप मित्रा.इन (standupmitra.in) पर जाए उसके बाद आपको उस पोर्टल के ऊपर भारत सरकार द्वारा बहुत सी योजनाओं एवं सब्सिडी के द्वारा पोर्टल के ऊपर बताया गया है उसके बाद आप इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत हुए जिसमें आप अपनी ईमेल आईडी मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड की सहायता से एक बार पंजीकृत हो सकती हैं उसके बाद आपको अपनी लोन की प्रोसेस के लिए किसी अन्य सरकारी कर्मचारी का कॉल आएगा उसके तत्पश्चात वह अधिकारी वेरिफिकेशन के लिए आएगा उसके तत्पश्चात वह अप्रूव कर के पोर्टल पर बता देगा कि आपकी यह लोन की फाइल पास हो चुकी है फिर आप सुचारू रूप से अपनी लोन की प्रक्रिया को ऑन कर सकते हैं।

यह भी पढ़े – स्टार्टअप (Startup) के लिए फंडिंग कैसे प्राप्त करें 2023 में

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments

सूचना-पत्र

हमारे साप्ताहिक सूचना-पत्र की सदस्यता लें और नवीनतम अपडेट्स को देखना ना भूलें।